Avashy Unamen Aisee Shakti Jisase Jeevon Shreshtata Dasava Karane Vaala Manushy Vanchit

आशय स्पष्ट कीजिये – (क) अवश्य ही उनमें कोई ऐसी गुप्त…

Answers:

(क) हीरा और मोती बिना कोई वचन कहे एक-दूसरे के मन की बात समझ जाते थे। प्रायः वे एक दूसरे से स्नेह की बातें सोचते थे। यद्दपि मनुष्य स्वयं को सब प्राणियों से श्रेष्ठ मानता है किंतु उसमें भी ये शक्ति नहीं होती।
(ख) हीरा और मोती गया के घर बंधे हुए थे। गया ने उनके साथ अपमान पूर्ण व्यवहार किया था। इसलियी वे क्षुब्ध थे। परन्तु तभी एक नन्हीं लड़की ने आकर उन्हें एक रोटी ला दी। उस रोटी से उनका पेट तो नहीं भर सकता था। परन्तु उसे खाकर उनका ह्रदय ज़रूर तृप्त हो गया। उन्हों ने बालिका के प्रेम का अनुभव कर लिया और प्रसन्न हो उठे। 

(Ka) Heera aur motee bina koee vachan kahe ek-doosare ke man kee baat samajh jaate the. praayah ve ek doosare se sneh kee baaten sochate the. yaddapi manushy svayan ko sab praaniyon se shreshth maanata hai kintu usamen bhee ye shakti nahin hotee.
(Kh) Heera aur motee gaya ke ghar bandhe hue the. gaya ne unake saath apamaan poorn vyavahaar kiya tha. isaliyee ve kshubdh the. parantu tabhee ek nanheen ladakee ne aakar unhen ek rotee la dee. us rotee se unaka pet to nahin bhar sakata tha. parantu use khaakar unaka hraday zaroor trpt ho gaya. unhon ne baalika ke prem ka anubhav kar liya aur prasann ho uthe.